Complete Information About World Food Day || Why Is It Celebrated

0
286
world food day

World Food Day

FAO ( Food and Agriculture Organisation) हर साल 16 अक्टूबर को world food day मनाता है।  इसी दिन 1945 में इसकी स्थापना हुई थी। पूरे विश्व भर में 150 देशो मे बहुत सारे मनोरंजन इवेंट ऑर्गेनाइज किए जाते हैं और यह विश्व का सबसे ज्यादा सेलिब्रेट किया जाने वाला दिन माना जाता है।

 

वर्ल्ड फूड डे मनाने का मुख्य कारण यह है कि दुनिया भर में जागरूकता पैदा हो  उन लोगों के लिए जो भुखमरी के शिकार होते हैं और उनको ढंग खाना और पानी नहीं मिल पाता है। इसी कारण वर्ल्ड फूड डे बहुत अच्छे से मनाया जाता है हर साल।। जितना हम लोगों ने आज तक पाया  है इसकी खुशी में भी यह मनाया जाता है |

 

What is FAO?

world food day

FAO एक यूनाइटेड नेशंस की स्थापना है। जिसका मुख्य गोल भुखमरी को मिटाना है। यह संस्था विकसित और विकासशील देशों  की सहायता करता है। यह संस्था और उसके राइट सबके लिए एक बराबर है सभी देशों के लिए और सभी नागरिकों के लिए। यही नहीं इस संस्था के पास ज्ञान का पूरा भंडार है इनके पास सारे आंकड़े हैं जिनसे हर एक देश सिक्के अपने देश में बदलाव ला सकता है और भुखमरी को मिटा सकता है।

इसकी शुरुआत David Lubin ने की थी।  मई 1905 मैं एक इंटरनेशनल कांफ्रेंस हुई थी, जहां पर International Institute of Agriculture Constitute of Food and Agriculture Organisation की खोज की गई थी। उसके बाद एक और कॉन्फ्रेंस हुई कैनेडा में 16 अक्टूबर 1945 को जिसका यह परिणाम निकला गया उसका नाम बदल कर रखा गया। विश्वयुद्ध ने इस संस्था को बहुत ही नुकसान पहुंचाया जिसकी वजह से 27 फरवरी 1948 को Food and Agriculture Organisation का जन्म हुआ।

Why should we care?

world food day

अब सवाल यह उठता है कि हम वर्ल्ड फूड डे क्यों मनाते है?  यूएन के हिसाब से सही और ढंग का खाना मिलना सबका एक राइट है। और पैसे को सही रूरल डेवलपमेंट और खाने में लगाने का मतलब है एक बहुत बड़ा ग्लोबल चैलेंज को अचीव करना। सबसे बड़ी दिक्कत हमारी दुनिया में भुखमरी है और जब तक यह खत्म नहीं होगी तब तक हम अपने 17 गोल अचीव नहीं कर पाएंगे जो कि युवाओं ने 2030 तक के बनाए हैं।

यूएन का गोल है जीरो हंगर यानी कि कहीं भी भुखमरी ना हो और यह मुमकिन भी हुआ है 129 देशों में से 72 कंट्रीज ने यह गोल अचीव कर लिया है। और इन्होंने जो भी भुखमरी से मर रहे थे उन सब को 2015 तक ही बचा लिया है । 20 सालों में जबकि एक बच्चे की संभावना थी कि वह 5 साल की उम्र से पहले मर जाएगा यह संभावना अब आधी हो चुकी है। और अब तक 17,000 बच्चे हर दिन बचाए जा रहे हैं भुखमरी के खिलाफ। गरीबी और भुखमरी की जो संख्या है वह 1990 से अब तक आधी हो चुकी है और अगर हम और मेहनत करते रहे तो यह पूरी हो जाएगी।

Reasons How Zero Hunger Could Change the World

यदि हम जीरो हंगर का गोल अचीव कर पाए तो इससे देश में एक बहुत बड़ा बदलाव आएगा उनमें से कुछ कारण है  –

world food day

जीरो हंगर को अचीव करके हम हर साल 3.1 मिलियन बच्चों की जान बचा सकते हैं।

हर अच्छी-खासी मां को एक स्वस्थ बच्चा होगा जिसका इम्यून सिस्टम बहुत ही स्ट्रांग होगा।

world food day

यदि हम किसी बच्चे की भुखमरी मिटा दें तो उस कंट्री का जीडीपी 16 पॉइंट 5 परसेंट बढ़ जाएगा |

और  यदि हम $1 इन्वेस्ट करते हैं भुखमरी को मिटाने के लिए तो हमें इसका रिटर्न 15 से  $139 तक मिल सकता है |

world food day

यदि हम आयरन की कमी जो लोगों में होती है उसको मिटा सके तो लोगों की काम करने की संख्या 20 परसेंट बढ़ जाएगी।

0 Hunger सबके लिए एक सुरक्षित भविष्य बनाएगा।

यदि हम आज सही पोषण में खाना ले तो हमारी जिंदगी भर की कमाई 46 परसेंट बढ़ जाएगी।

 

 

 

By- Siddharth Vikram

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here