क्यू हैं भौतिकवाद इतना बुरा ? जानिए भौतिकवादी लोगों का समाज पर प्रभाव

0
355
why materialism is so bad

Why Materialism is So Bad

क्यू हैं भौतिकवाद इतना बुरा ?

why materialism is so bad

भौतिकवाद की बुराइयों को जानने से पहले, हम यह जानने की कोशिश करते हैं कि भौतिकवाद क्या है? भौतिकवाद कैसे मानव पर और मानव जीवन पर प्रभाव डालता है? कैसे भौतिकवाद मानवता को समाज से खत्म करता जा रहा है। और समाज में बुराइयों को बढ़ाता जा रहा है।

 

क्या है भौतिकवाद ?

भौतिकवाद वह है जिसमें लोग वित्तीय कल्याण और सफलता को अधिक मूल्य देते हैं पैसा भौतिकवाद है, पैसे से लाई गई चीजें भौतिकवाद  का हिस्सा है। वह चीजें जिससे लोग खुश तो हो जाते हैं लेकिन उन्हें मानसिक संतुष्टि नहीं मिलती है, वह भौतिकवाद है। यह कैसा भौतिकवाद है? मोह माया भौतिकवाद है।

हमने यह तो जान लिया कि भौतिकवाद क्या होता है। लेकिन भौतिकवादी लोग कौन होते हैं। आइए जानते हैं…..

कौन और कैसे होते हैं भौतिकवादी व्यक्ति?

why materialism is so bad

भौतिकवादी व्यक्ति के लिए धन बहुत महत्वपूर्ण होता है। उन्हें इससे भी ज्यादा चाहिए होता है। उन्हें किसी भी चीज से कभी संतुष्टि नहीं मिलती। हमेशा उन्हें अधिक पाने की इच्छा मन में रहती है। भौतिकवादी लोग अपने भविष्य के सुधार के बारे में कभी नहीं सोचते हैं। उन्हें सिर्फ वर्तमान का सुधार दिखाई देता है। यह लोग वित्तीय अपेक्षाओं के चक्कर में फस सकते हैं।

यह लोग खर्च बहुत करते हैं। आइए अब यह जानते हैं कौन सी वस्तुएं होती हैं जो भौतिकवादी होती हैं।

 

भौतिकवाद से जुड़ी वस्तुएं…..

why materialism is so bad

धन और धन से मिलने वाली वह सभी वस्तुएं जिससे कि हमें खुशी तो मिलती है, पर उससे हमें मानसिक शांति नहीं मिलती है। भौतिकवादी वस्तुओं में सबसे प्रथम धन है। कुछ ऐसी जरूरत है जैसे की शॉपिंग करना, घूमना, दूसरों को दिखावा करना, घर, रहन-सहन, दिखावे की वस्तुएं, आदि यह सब भौतिकवादी वस्तुऐ हैं। भौतिकवादी ईसाइयों के लिए दुश्मन का पहला हथियार है। भौतिकवाद लोगों के लिए धन की संतुष्टि करता है।

आखिर धन किसे पसंद नहीं है, धन के लिए सब इच्छुक रहते हैं। क्योंकि धन से ही अधिकतर वस्तुएं, इच्छाएं और जरूरतें पूरी की जा सकती हैं। लेकिन भौतिकवादी बनकर धन से सिर्फ हमारी तत्कालीन इच्छाएं पूरी हो सकती है। जो हमारी गहरी इच्छाएं या जरूरत है। वह भौतिकवादी होकर पूरी नहीं की जा सकती।

 

भौतिकवादी लोगों का समाज पर प्रभाव

why materialism is so bad

भौतिकवादी लोग समाज के लिए नुकसानदायक हो सकते है। ऐसे लोग सिर्फ अपनी जरूरतें पूरी करना जानते हैं, अपनी खुशियां जानते हैं, उन्हें समाज से कोई फर्क नहीं पड़ता है। ऐसे लोग अगर समाज में है तो वह समाज के माहौल को खराब कर सकते हैं। और वहां के रहने वाले लोगों को भी उनसे कष्ट हो सकता है। भौतिकवादी लोग अपने दिखावा करने की आदत के चक्कर में आकर अपने भविष्य को संकट में डाल लेते हैं। और अपने भविष्य के साथ अपने समाज के भी भविष्य को संकट में डाल देते हैं।

 

भौतिकवाद से कैसे बचा जा सकता है….

why materialism is so bad

 

भौतिकवादी को अगर हम परिभाषित करें तो यह जब होता है जब धन और संपत्ति की इच्छा आध्यात्मिक वास्तविकताओं की तुलना में अधिक मूल्यवान या महत्वपूर्ण हो जाती है, तो उसे भौतिकवाद कहते हैं। इससे बचने के लिए सिर्फ एक ही उपाय है कि अपनी इच्छाओं को एक सीमित दायरे में रखें। धन और संपत्ति को इतना महत्वपूर्ण, मूल्यवान ना बनाएं कि वह आपके ऊपर ही हावी हो जाए और आप पर नियंत्रण करने लगे।

भौतिकवाद को नियंत्रित करने के लिए कुछ उपाय…..

  • TV पर फालतू के प्रचारों का कम देखना,
  • सिर्फ जरूरत की ही चीजों की खरीदारी करना,
  • अपने आप को दिखावा करने से रोकना,
  • धन और संपत्ति के लिए लालच ना करना,
  • जितनी वस्तु है उसी में संतुष्ट रहना,
  • धन व संपत्ति को महत्व ना देकर अपने रिश्ते,ज्ञान व समय को महत्व देना।
  • समाज व विचारों की तरफ एक झुकाव बनाकर रखना।

 

भौतिकवाद में सिर्फ बुराइयां ही नहीं है, इसमें कुछ अच्छाइयां भी है। जैसे कि यह हमारे समाज में एक रुतबा बनाता है। लेकिन लोग इस रुतबे का गलत फायदा उठा लेते हैं। इसलिए यह बुरा माना जाता है। भौतिकवाद के अच्छे प्रभाव भी समाज पर पड़ते हैं, पर इसे एक सीमित दायरे में ही रखना चाहिए। जिससे कि इसके बुरे प्रभाव समाज पर ना पड़े।

  
 – अंजली चौहान

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here