कैसे रखें सोशल मीडिया पर अपनी जानकारी को गोपनीय

0
143

गोनीयता क्या है?

  • गोपनीयता वह है जिसमें किसी और से अपनी चीजों को बचाकर या छुपा के रखा जाता है।
  • सोशल मीडिया की कई ऐसी साइट हैं, जो बहुत ज्यादा प्रचलित है। जिसमें बच्चे ही नहीं बड़े से लेकर बूढ़े भी उन्हें चलाते है और अपनी सारी जानकारी उन पर डाल देते हैं।
  • जिससे कि हमारी निजी जानकारी है वह समाज के सामने आ जाती है ।
  • हमारे समाज में कुछ ऐसे लोग हैं, जो ऐसे ही साइट्स पर जाकर दूसरे लोगों की निजी जानकारी को लेकर उनका गलत इस्तेमाल करते हैं।
  • हमें ऐसे ही कुछ लोगों से अपना बचाव करने के लिए अपनी जानकारी को गोपनीय रखने की आवश्यकता है।

 

सोशल मीडिया क्या है ?

how to keep privacy on social media

कुछ ऐसी साइट्स जिस पर जाकर आप समाज से, अपने रिश्तेदारों से, अपने परिवार वालों से, यहां तक कि अनजान किसी भी आदमी से मेलजोल बढ़ा सकते हैं और बातचीत कर सकते हैं।

सोशल मीडिया की कुछ ऐसी साइट है जैसे कि WhatsApp, Facebook, इंस्टाग्राम, Twitter आदि।

 

 

क्या क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं, अपनी निजी जानकारी को सोशल मीडिया पर डालकर या उसे गोपनीय ना बना कर….

 

हम सभी छोटे हो या बड़े जब सोशल मीडिया जैसे कि Facebook, WhatsApp आदि पर अपना अकाउंट बनाते है और अपनी प्रोफाइल बनाते समय अपनी निजी सारी सही जानकारी उन पर डाल देते हैं।

हमारी निजी जानकारी जैसे कि हमारा पूरा नाम क्या है, हम किस शहर में रह रहे हैं, हम किस जगह पर रह रहे हैं, हमारा मोबाइल नंबर, हमारे माता-पिता का नाम, हम कहां से पढ़ कर आए हैं, कहां और क्या करने में हमारी रूचि है, हम कहां घूमने जा रहे हैं, अभी हम कहां खड़े हुए हैं। यहां तक कि अपनी सारी तस्वीरें भी हम ऐसी ही सोशल मीडिया साइट्स पर डाल देते हैं।

ऐसी सभी जानकारियां आप अगर सोशल मीडिया साइट्स पर डालते हैं तो यह आपके लिए बहुत हानिकारक साबित होगा। होगा भी क्यों नहीं, आप अगर Google पर सर्च करें तो ऐसे ही कई मामले सामने आएंगे जिसमें कि लोगों की निजी जानकारी सोशल मीडिया वेबसाइट से लेकर उनका गलत इस्तेमाल किया गया है। उन्हें ब्लैकमेल किया जाता है।

तो आप ऐसी गलती ना करें।

 

कैसे सोशल मीडिया साइट्स पर गोपनीयता बना सकते हैं

how to keep privacy on social media

आप जो भी जानकारी अपनी सोशल मीडिया साइट्स पर जैसे कि अपना मोबाइल नंबर पता  आप के बारे में और भी कोई निजी जानकारी है। तो या तो ऐसी चीजें साइट्स पर डाले ही नहीं। अगर आप डालते हैं तो उस पर प्राइवेसी यानी गोपनीयता बनाकर रखें।

अब जो भी तस्वीरें या अपने बारे में जो भी जानकारी आप सोशल मीडिया साइट्स पर अपडेट करते है। तो उस जानकारी को सिर्फ अपने परिचित तक ही सीमित रखें यानी की अपनी सभी गतिविधियों, अपनी सभी तस्वीरों पर अपनी प्राइवेसी लगा दें जिससे कि आपके परिचित ही उन्हें सिर्फ देख सकते हैं।

 

गोपनीयता को देखते हुए केंद्र सरकार का भारत को सोशल मीडिया का हब बनाने के फैसले पर रोक …..

पिछले कुछ दिनों में केंद्र सरकार का सोशल मीडिया को हब बनाने का फैसले पर रोक लगाना एक अच्छा कदम था। यह फैसला केंद्र सरकार ने जब लिया जब इस पर यह आरोप लगाए जा रहे थे कि यह नागरिकों की ऑनलाइन गतिविधियों पर नजर रखेगा और यह निगरानी करने का एक हथियार भी बन सकता है।

13 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने भी इस फैसले के संदर्भ में अपना सख्त रुख को अपनाया था

सोशल मीडिया की हब की बात इसलिए निकल कर आई क्योंकि भारत जैसे देश में इसका बहुत दुरुपयोग हो रहा है। सोशल मीडिया के भारत में दो छोर हैं। एक जगह पर उसका अधिक दुरूपयोग हो रहा है। एक जगह पर इस के बढ़ते हुए कदम हमें हमारी जिंदगी मैं बहुत मदद कर रहे हैं।

क्या-क्या हो चुका है सोशल मीडिया के दुरुपयोग से

कुछ दिन पहले ही WhatsApp के कारण कई लोगों की मौत हो चुकी है। कुछ WhatsApp मैसेजेस कई लोगों की मौत का कारण बन चुके हैं। पहले गौ रक्षा और फिर बच्चा चोरी जैसे मैसेजेस के कारण कई दंगे फसाद हुए और कई लोगों की जानें गई।how to keep privacy on social media

कुछ ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जिसमें कि आपकी तस्वीरें सोशल मीडिया से लेकर उन्हें गंदी तरह से पेश किया जाता है।

इसलिए हमें गोपनीयता के संदर्भ में अधिक सतर्क और सावधान रहने की आवश्यकता है।

 

 अंजली चौहान

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here