जानिए कौन सी हैं वो 5 चीज़ें जो आपके मांसाहार की श्रेणी मे डाल देंगी

0
205

5 SURPRISING PRODUCTS THAT YOU THINK ARE VEGAN BUT ARE REALLY NOT

हर किसी को अपना मनपसंद  खाना पीना बहुत पसंद होता है। खुल के जीने का एक नाम स्वादिष्ट खान पान भी होता है।  बहुत से लोग तो खाने के इतने शौकीन होते है की हर दिन कुछ न कुछ नया खाद्य पदार्थ उन्हें चाहिए ही चाहिए और कुछ तो अलग अलग जगहों पर सिर्फ वहा  की प्रसिद्ध चीज़ को खाने के लिए जाते है।  अब खाने के भी दो प्रकार होते है एक शाकाहारी और दूसरा माँसाहारी।  जो लोग जानवरो के मीट जैसी चीज़ो का सेवन करते है उन्हें मांसाहारी कहते है, लेकिन हर किसी को मांस पसंद नहीं होता इसलिए जो लोग सिर्फ शाक सब्जियों से ही अपने स्वाद का लुत्फ़ उठाते है उन्हें शाकाहारी कहते है।
लेकिन मांसाहारी व्यक्ति के लिए शाकाहारी भोजन करना कोई बड़ी बात नहीं है परन्तु शाकाहारी व्यक्ति का मांस को खाना कुछ अलग बात है।  हो सकता है की जिन चीज़ो को आप शाकाहारी समझ के ग्रहण कर रहे हो   वह असल में जानवर की चर्बी के प्रयोग से बनकर उसे मांसाहार की  श्रेड़ी में डाल रही हो।  तो आइये हम आपको बताते है कुछ ऐसे पदार्थ जिन्हे आप सोच समझ के ही खाये या पिए।

1. BEER

products that you think are vegan but are really not
बाहरी देशों का कल्चर अपनाते हुए आजकल हमारे देश में भी बियर खाने के साथ पि जाती है। लेकिन आपको बता दे की बियर को फ़िल्टर करने के लिए इसिंग्लस का प्रयोग किया जाता है। इसिंग्लस मछलियों में पाया जाने वाला एक पदार्थ है जिससे बियर में डालने से बियर अच्छे से फ़िल्टर होजाती है। हालाँकि बड़ी कंपनिया जैसे की गिनेस, कार्ल्सबर्ग, स्टेला, अर्टोइस और हेइनकेन ने यह घोषित किया है की वह इसनग्लास जैसे पदार्थ का इस्तेमाल बियर बनाने में नहीं करते।

2. BREAD

products that you think are vegan but are really not
ब्रेड मनुष्य के प्राचीन समय से खाते आ रहे भोजन पदार्थो में से एक है।  हम प्रतिदिन सुबह उठ के चाय, दूध के साथ, पिज़्ज़ा, बर्गर जैसे अन्य खाद्य पदार्थो के साथ   ब्रेड का सेवन करते ही है, लेकिन क्या आपको पता है की जिस ब्रेड को आप शाकाहारी आहार समझ के खाते है बहुत सी बड़ी बड़ी कम्पनिया उसके बड़े उतपाद के लिए जानवर के बालो का प्रयोग करती है। जानवर के बालो में एमिनो एसिड पाया  है जोकि ब्रेड को सॉफ्ट और फ्लफी बनाता है।  लार्ज स्केल प्रोडक्शन के लिए  फ़ूड मनुफक्चरर्स डक  और हॉग के बालो  इस्तेमाल करते पाए जाते है।

3. PASTA

products that you think are vegan but are really not
पास्ता एक इटालियन खाना है जिसे अब हर जगह पाया जाता है, लेकिन पास्ता बनाने के लिए अंडो का प्रयोग किया जाता है। अंडे मुर्गी द्वारा प्राप्त होते है इसलिए अंडो को मांसाहार की श्रेड़ी में रखा जाता है। हालाँकि ड्राई पास्ता में अंडे नहीं होते लेकिन यह जरुरी है की खरीदने  के पहले उसका लेबल पढ़ लिया जाये।

4. CHEWING GUM

products that you think are vegan but are really not
अगर आप स्ट्रेस दूर करने के लिए या मुँह से निकलने वाली सांसो को सुगन्धित करने के लिए च्युइंग गम का प्रयोग करते है तो जान लीजिए की कुछ च्युइंग गम बनाने वाली ब्रांड्स च्युइंग गम बनाने के लिए जानवर की खाल का प्रयोग करती है। जानवर की खाल को गर्म पानी में उबाल कर उससे निकलने वाले जेलाटीन और स्टेरिक एसिड से च्युइंग गम के उस पदार्थ को तैयार किया जाता है जिसे आप चबाते है और उसके अंदर ही मिंट या अन्य सुगन्धित पदार्थ भर दिए जाते है।

5. SOME ORANGE JUICE BRANDS

products that you think are vegan but are really not
आजकल हर चीज़ मार्किट में रेडीमेड मिल जाती है भले ही वो खाने की हो या पिने की, जैसे की फ्रूट जूस। पहले लोग घरों में फल का जूस अपने हाथ से निकाला करते थे जोकि शुद्ध होता था लेकिन अब तो रेडीमेड जूस के डिब्बे आते है जिन्हे बस ग्लास में निकालो और पि जाओ। लेकिन मै आपको बता दू कि बहुत से  जूस ब्रांड विटामिन  को जूस डालने  लिए लानौलिन  प्रयोग करते है जोकि शीप की  वूल से उत्पन होता है और बात यही   खतम नहीं है बहुत से जूस ब्रांड्स जूस  ओमेगा फैटी एसिड्स को ऐड लिए फिश आयल का प्रयोग करते है। तो इसलिए बेहतर होगा की आप खुद से ही अपने घर पर ही ताज़ा फलों का  जूस निकल कर  उसका सेवन करे अन्यथा एक बार रेडीमेड जूस पैक खरीदने के पहले उसके पीछे दिए हुए लेबल को अवश्य पढ़ ले।
तो यह है वह पाँच प्रोडक्ट्स जो हो सकता  है कि  जानवरों की खाल, हड्डियाँ, बाल या उनके मीट से तैयार की गयी हो इसलिए इनका सेवन करने के पहले सावधानिया अवश्य बरते। हालांकि इन्हे खाने से आपके स्वास्थ को कोई हानि नहीं पहुंचेगी।

 

                                                                                                                                                                            यश गर्ग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here