जानिए क्या है ये Mystery Fever, जिसके कारण उत्तर प्रदेश मे हुआ High Alert

0
470

High Alert  In Uttar Pradesh- Mystery Fever

क्या है यह बीमारी?

high alert  in uttar pradesh- mystery fever

उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाई अलर्ट जारी किया है। सेंट्रल और स्टेट सरकार दोनों ही टीम इस में लग गए हैं। एक खतरनाक बुखार जिसका अभी तक पता नहीं लग सका है। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश के 6 डिस्ट्रिक्ट में 84 लोगों की मृत्यु हो चुकी है । और यह घटना सिर्फ 6 हफ्ते में हुई है इसकी वजह से ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने पूरे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया है। बरेली में अब तक 24 मामले दर्ज हो चुके हैं सबसे ज्यादा यही पाए गए हैं बाकी अन्य अलग अलग शहरों में है।

बरेली के पीड़ितों में से एक है 12 साल का ओमकार जिसको 2 दिन पहले  तुरंत अस्पताल ले जाया गया। उनके पिता जी का कहना था कि उनका शरीर पूरी तरीके से जल रहा था और जब एक गांव के डॉक्टर के पास ले गए तब उसकी हालत में कोई सुधार नहीं था उसके बाद वह शहर के अस्पताल में ले गए लेकिन वह बच नहीं पाया।

 

कहां से शुरुआत हुई?

high alert  in uttar pradesh- mystery fever

कहा जा रहा है कि बीमारी वायरल फीवर, टाइफाइड और मलेरिया जैसी है। उत्तर प्रदेश की सरकार पूरे जगहों में दवाइयां बांट रही हैं और अलग-अलग योजनाएं चला रही है और काफी जगहों से मच्छरों को मारने के लिए अलग-अलग प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश की सरकार में इसका दावा एक प्रेस रिलीज में किया। उनके हिसाब से सबसे ज्यादा बरेली और बदायूं जो कि पश्चिम उत्तर प्रदेश का हिस्सा है उस में फैले हुए हैं। और यही नहीं उनका कहना है कि लखनऊ के आसपास की जगह भी पीड़ित हो रहे हैं तो अब रेवा पर असर कर सकता है।

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह का कहना है कि यदि आपको ऐसा कुछ भी महसूस होता है अपने अंदर या अपने परिवार वालों के अंदर तो सबसे पहले उसको बाकी लोगों से दूर रखिए और तुरंत के तुरंत अस्पताल पहुंचाये। और यदि अस्पताल में सुधार नहीं आ रहा है तो तुरंत के तुरंत बड़े हेल्थ ऑफिशल्स के पास भेजा जाएगा। उनका यह भी कहना है कि वह लोगों को तुरंत से तुरंत सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया क्योंकि सरकारी डॉक्टर  को पूरी जांच करवाई गई है।

 

माना जा रहा है कि 21 सितंबर तक  84 लोगों की जान जा चुकी है। यह बीमारी ज्यादातर बच्चों को आ रही है और इसका चलन अभी से शुरुआत नहीं हुआ एक 2 महीने पहले से चल रहा है। अब तक कुल 1250 बच्चे अस्पताल में भर्ती किए जा चुके हैं वजन का इलाज वहां पर सही से नहीं हो पा रहा है उनको लखनऊ भेजा जा रहा है।

बीमारी कैसे आई है और इसका इलाज क्या है अभी तक नहीं पता कर पाए हैं। लेकिन यदि आप के परिवार में या आपको खुद ही हल्का सा भी बुखार लगता है या अजीब सा महसूस होता है तो आप तुरंत के तुरंत बाकी लोगों से दूर हो जाए क्योंकि यह बीमारी और लोगों में फैल सकती है इसके बाद आप तुरंत नजदीकी अस्पताल में जाकर जांच कराएं और कोशिश करिए कि वह सरकारी अस्पताल होगा क्योंकि सरकारी अस्पताल में ही काफी सामान और दवाइयां पहुंचाई गई है जिससे इस बीमारी का पता लगता है।

 

कैसे अपने आप को बचाएं?

high alert  in uttar pradesh- mystery fever

कई लोगों का कहना है कि बीमारी मच्छर के काटने से हुई है तो जितना हो सके अपने शरीर को ढक के रखे हैं ताकि कोई भी मच्छर आपके आसपास ना आ पाए। यदि रात में आप कहीं बाहर जा रहे हैं तो कोशिश करें कि पूरे कपड़े पहन कर जाएं। बारिश के मौसम में वैसे ही बीमारियां बहुत जल्द फैलती है तो आप कोशिश करिए और लोगों से दूर रहने की जिनको पहले से बुखार है। अपने बच्चों को देर तक पार्क में खेल्ने ना दें। और यह ध्यान में रखें कि रात में सोने से पहले यह जरूर जांच लें कि आपके कमरे में कोई मच्छर नहीं होना चाहिए।

– सिद्धार्थ विक्रम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here