Early Signs of Alzheimer You Should Know

0
438
early signs of alzheimer you should know

अल्ज़ाइमर – एक मानसिक रोग

आज की आधुनिक टेक्नोलॉजी के ज़माने में अल्ज़ाइमर रोग तेज़ी से फैल रहा है || दिन प्रतिदिन विश्व के हर व्यक्ति में इस रोग के लक्षण देखे जा रहे है || हालाँकि इक्कीसवी सदी के विज्ञान विशेषकों ने इस रोग की दवाएं और इसके प्रबंध भी ढूंढ लिए है ||

आख़िर होता क्या है अल्ज़ाइमर रोग ?

early signs of alzheimer you should know

अल्ज़ाइमर इंसान के दिमाग से जुडी हुई बीमारी है जिसमे इंसान की यादाश्त कमज़ोर हो जाती है || अल्ज़ाइमर इंसान के महत्वपूर्ण मानसिक कार्यों को हानि पहुंचाता है ||

क्या अल्ज़ाइमर और डेमेन्शिआ सामान है ?

लोग ऐसा मानने लगे है की अल्ज़ाइमर और डेमेंसिआ सामान है क्युकि दोनों ही रोग मानसिक है और दोनों ही रोगो में यादाशत कमज़ोर हो जाती है परंतु इसा नहीं है, डेमेन्शिआ और अल्ज़ाइमर एक रोग नहीं है || डेमेंसिआ एक अधिक समय तक यादाशत को प्रभावित करने की समस्या है जबकि अल्ज़ाइमर कुछ समय या कुछ कार्यों को भूल जाना होता है || ऐसा कहा जा सकता है कि अल्ज़ाइमर, डीमेंसिआ का एक प्रकार है परंतु यह दोनों अलग अलग है ||

अल्ज़ाइमर रोग होने के कारण

1. अल्ज़ाइमर आयु के कारण हो सकता है – अधिकतर पाया गया है कि 85 की उम्र के बाद इंसान के दिमाग का विकास रुक जाता है और व्यक्ति की बौद्धिक क्षमता बिलकुल न के बराबर हो जाती है || इसलिए 85 से अधिक आयु वाले लोगों को अल्ज़ाइमर होने का जोखिम ज्यादा होता है || हालाँकि मनुष्य के जीवन की आयात इस हाईटेक ज़माने में 70-80 वर्ष की ही रह गयी है इसलिए हाल ही में हुए सर्वे दवारा पता चला है की जैसे जैसे वृद्धावस्था नज़दीक आती जाती है इंसान का शरीर बीमारी का घर बनता जाता है जिसमे एक रोग अल्ज़ाइमर भी हो सकता है ||
२. पारिवारिक इतिहास – अगर किसी भी घर के व्यक्ति को पहले से अल्ज़ाइमर हो तो आपको भी अल्ज़ाइमर हो सकता है || एसा होने का एक ही कारण है – transfer of genes during sexual reproduction.
3. कम शैचिक और व्यावसायिक प्राप्ति – दिमाग के लिए जरुरी है की दिमाग का इस्तेमाल हो || शिक्षा दिमाग का विकास करती है इसलिए जरुरी है की हर व्यक्ति शैक्षिक और व्यावसायिक ज्ञान को प्राप्त करे || हालाँकि ऐसा जरूरी नहीं कि ज्ञान प्राप्ति सिर्फ अव्वल आना होता है, ज्ञान बुध्दि के विकास के लिए भी जरुरी है ||
4. पहले की सिर की चोट – बचपन में हम सभी गिरते है जब चलना सीखते है या साइकिल चलाना सीखते है यह तो आम बात है परंतु ध्यान रखने वाली बात यह है कि गिरते दौरान चोट अगर सर पे लगती है तो दिमाग को प्रभाव न करे ||
5. नींद का पूरा न होना – नींद का पूरा न होना दिमाग पर असर करता है और अल्ज़ाइमर जैसी बीमारियों का कारण बनता है ||

Early Signs of Alzheimer You Should Know

अल्ज़ाइमर रोग के लक्षण

1. चीज़ो को रख के भूल जाना और फिर ढूंढने में असमर्थता
२. रोज़मर्रा की ज़िंदगी में यादाश्त की समस्या
३. समय का ध्यान न रहना
4. समस्या सुलझाने में अधिक समय लेना
5. अनुचित क्रोध आना

अल्ज़ाइमर से छुटकारा पाने और यादाशत तेज़ करने के सरल उपाय

1. बादाम का नियमित प्रयोग आपके दिमाग को करेगा तेज़ – बादाम में आयरन और फाइबर काफी अधिक मात्रा में पाया जाता है || यदि प्रतिदिन सिर्फ दो बादामों का सेवन किआ जाये तो इंसान की बौद्धिक क्षमता तीन से चार गुणा विक्सित हो सकती है ||
early signs of alzheimer you should know
2. हल्दी करेगी दिमाग़ को एक्टिव – हल्दी का प्रयोग हर घर में किआ जाता है || हल्दी में कुरकुमीन रसायन होता है जो दिमाग को एक्टिव और स्वस्थ रखता है || हल्दी दिमाग की मरी हुई कोशिकाओं को एक्टिव करके आपको अल्ज़ाइमर जैसी बीमारी से छुटकारा दिलाने में मददगार है ||
early signs of alzheimer you should know
३. जी भर के सोये – नींद न आने से दिमाग सुस्त और परेशान रहता है जिसके कारण यादाशत भी कमज़ोर होती है इसलिए कम से कम आठ घंटे की नींद जरूर पूरी करे ताकि आपका दिमाग चुस्त रहे और यादाशत तेज़ बानी रहे ||
early signs of alzheimer you should know
4. दालचीनी और शहद से होगा दिमाग तेज़ – अगर नित्य प्रतिदिन एक ग्लास गुनगुने दूध या पानी में एक चुटकी दालचीनी और शहद मिलाकर पिया जाये तो दिमाग तेज़ होता है और मानसिक तनाव भी दूर होता है ||
early signs of alzheimer you should know
5. तुलसी की पत्तिया – तुलसी में एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट जैसे पदार्थ मौजूद होते है जिससे दिमाग में खून की प्रव्हा बेहतर होती है और अल्ज़ाइमर जैसी यादाश्त कि बीमारियों से आसानी छुटकारा पाया जा सकता है ||
early signs of alzheimer you should know
By – Yash Garg

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here