रेल, मेट्रो और बस में अब कर सकेंगे एक ही स्मार्ट कार्ड से यात्रा

0
114

रेल, मेट्रो और बस में अब कर सकेंगे एक ही स्मार्ट कार्ड से यात्रा….

वर्षों से दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्रों में एक कॉमन स्मार्ट कार्ड की बात की जा रही थी जिससे कि रेल, मेट्रो और बसों में टिकट का भुगतान किया जा सके। अब यह सपना जल्दी साकार होने जा रहा है।

दिल्ली परिवहन के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक यह सुविधा अप्रैल से ही लागू होने की बात हो रही थी। लेकिन आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण यह अभी लागू नहीं हो पाया है। लेकिन ऐसा सुनने में आ रहा है कि जल्दी ही चुनाव प्रक्रिया खत्म होने के बाद (डीटीसी) दिल्ली परिवहन निगम की बसों में यह सुविधा यानी की कॉमन स्मार्ट कार्ड जिससे कि रेल और मेट्रो में टिकटों का भुगतान किया जाता है वह बस में भी लागू कर दिया जाएगा।

 

क्या है स्मार्ट कार्ड की सुविधा

क्या है स्मार्ट कार्ड की सुविधा

(डीटीसी) दिल्ली परिवहन निगम की बसों में यात्रा करने वाले यात्रियों को या तो बस में टिकट खरीदनी होती है, या फिर रियायती पास बनवाना पड़ता है। मासिक रियायती पास बनवाने के लिए यात्रियों को डीटीसी के निर्धारित केंद्रों पर जाकर लाइन में लगकर पास बनवाना पड़ता है। यह डीटीसी के पास बनाने वाले निर्धारित केंद्र निर्धारित जगह पर स्थित है। यहां तक कि यहां पर पास बनाने वाले अधिकारियों का भी समय निर्धारित है।

 

 

आरबीआई के निर्देश और नियम….

क्या है स्मार्ट कार्ड की सुविधा

 पिछले महीने ही रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देशानुसार मेट्रो स्मार्ट कार्ड को परिवहन निगम के अन्य साधनों में इस्तेमाल करने की मंजूरी दी गई थी। जिसके साथ ही डीटीसी बसों में इसे लागू करने का भी रास्ता साफ हो गया था। दिल्ली में स्मार्ट कार्ड की सुविधा लागू होने से यात्रियों को बड़ी राहत मिलेगी।

आरबीआई (रिजर्व बैंक) के नियमों के अनुसार यदि कोई भी स्मार्ट कार्ड का प्रयोग परिवहन के एक से ज्यादा साधनों में करता है, तो उसकी रिचार्ज करवाई गई राशि दोबारा वापस नहीं की जाएगी। मौजूदा समय में यह प्रावधान है कि कोई भी यात्री यदि अपना स्मार्ट कार्ड मेट्रो स्टेशन के कस्टमर केयर पर जमा करवाता है तो उसे ₹20 काट कर शेष राशि वापस कर दी जाती है।

 

आने वाले समय में, इन साधनों पर भी हो सकता है स्मार्ट कार्ड का उपयोग……

रेलवे व मेट्रो में इस्तेमाल होने वाला कॉमन स्मार्ट कार्ड, कुछ समय बाद बसों में भी शुरू होने जा रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले समय में परिवहन के अन्य साधनों में भी इसका उपयोग हो सकता है। अगर दिल्ली सरकार चाहे तो टैक्सी व पार्किंग में भी इसका इस्तेमाल शुरू करने की मंजूरी दे सकती है।

 

 

 अंजली चौहान

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here