जानिए क्यों हुआ नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मामला दर्ज…

0
239

पूर्व क्रिकेटर, कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मामला दर्ज

मुजफ्फरपुर में अधिवक्ता सुधीर ओझा ने, सीजीएम कोर्ट में, कांग्रेस नेता, पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिद्धू के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कराया है। सिद्धू के खिलाफ देशद्रोह का मामला पाकिस्तान के सेना प्रमुख को गले लगाने की वजह से हुआ है।

नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मामला दर्ज
क्रिकेटर से हास्य जज और फिर कांग्रेस नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ अधिवक्ता सुधीर ओझा ने, बिहार के मुजफ्फरपुर में सीजीएम कोर्ट में, सोमवार को राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज कराया है। नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में सम्मिलित होने गए थे। आपको बता दें कि सिद्धू ने समारोह के दौरान, पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा को गले लगाया था।

अधिवक्ता सुधीर ओझा का कहना है कि उन्होंने सिद्धू के खिलाफ राजद्रोह के साथ-साथ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं मैं मुजफ्फरपुर में सोमवार को
मामला दर्ज कराया है। सुधीर ओझा का कहना है कि उन्होंने कोर्ट में शिकायत की है कि पाकिस्तान में समारोह के दौरान सिद्धू के व्यवहार से भारतीय जनता को बहुत दुख पहुंचा है। अधिवक्ता सुधीर ओझा का कहना है कि मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले की सुनवाई अगले सप्ताह की जाएगी।

सिद्धू का आपत्तिजनक व्यवहार 

पंजाब के कांग्रेस के नेता सिद्धू के इस आपत्तिजनक व्यवहार के लिए उन्हें सराहा नहीं जा रहा है। बीजेपी और अकाली दल के नेता सिद्धू पर लगातार प्रहार कर रहे हैं कि उन्होंने पाकिस्तान के सेना प्रमुख को गले लगाकर राजद्रोह किया है।

सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान वहां उपस्थित थे। जहां वह पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के राष्ट्रपति मसूद खान के साथ बैठे नजर आए थे। इसके साथ ही उन्होंने इस समारोह में पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा को गले लगाया था। सिद्धू के इस व्यवहार से भारतीय जनता में दुख फैल गया और बीजेपी और अकाली दल के नेताओं को उन पर प्रहार करने का मौका मिल गया।

 नवजोत सिंह सिद्धू ने दी सफाई….

नवजोत सिंह सिद्धू पर देशद्रोह का मामला दर्ज

सिद्धू का राजद्रोह का मामला दर्ज होने के खिलाफ कहना है कि पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने मुझसे भारत और पाकिस्तान के बीच शांति की बात की तो मैंने उन्हें झप्पी दे दी। सिद्धू ने सफाई देते हुए कहा कि अगर कोई मेरे पास आए और यह कहे कि हम एक ही संस्कृति से ताल्लुक रखते हैं और हम करतारपुर सीमा को गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर खोलेंगे, तो मैं क्या करता हूं? पाक सेना प्रमुख ने मुझे शांति की बात करते हुए गले लगा लिया, तो मैं क्या करता, मैंने भी उन्हें झप्पी दे दी इसमें गलत क्या है?

 

 

                                       …. अन्जली चौहान

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here