सूर्य की आयु से सम्बंधित रोचक तथ्य

0
228

क्या सूर्य की भी उम्र है?

सूर्य की आयु से संभंधित रोचक तथ्य

जी हां विशेषज्ञों के अनुसार सूर्य की उम्र 5 अरब वर्ष है, जिसके मुताबिक सूर्य अभी तक अपनी आधी उम्र जी चुका है। और अब उसकी आधी उम्र 5 अरब वर्ष और रह गई है।

सूरज सौरमंडल में स्थित है। उसके चारों ओर पृथ्वी और सौर मंडल के अन्य ग्रह घूमते हैं। सूर्य हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा तारा है। यह आज सबसे अधिक सक्रिय अवस्था में अपने जीवन के आधे रास्ते पर है। इस के रूप में कई अरब वर्षों लगभग 5 अरब वर्षों से कोई बदलाव नहीं हुआ है।  आने वाले आगे के वर्षों में भी इस के रूप में कोई बदलाव नहीं होगा। यह अपरिवर्तित रहेगा।

 सूर्य का निर्माण कैसे और कब हुआ ?

सूर्य की आयु से संभंधित रोचक तथ्य

 आयु चक्र

विशेषज्ञों की माने तो सूर्य एक विशाल बादल के हिस्से के ढहने से 5 अरब साल पहले गठित हुआ था। सूर्य अधिकांश हाइड्रोजन और हीलियम के मिश्रण से बना है। और विशेषज्ञों के हिसाब से अधिकांश तारे भी शायद इन्हीं दो गैसों से मिलकर बने हुए हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि सूर्य की यह आयु तारकीय विकास के कंप्यूटर मॉडलों के प्रयोग और न्यूक्लियर  कॉस्मो क्रोनोलॉजी के माध्यम से अंकित की गई है।

प्राचीनतम सौरमंडल की रेडियो मैट्रिक तिथि के अनुसार सूर्य की आयु 5 अरब वर्ष के करीब मानी गई है।

ऐसा माना जाता है कि बादल का एक बड़ा टुकड़ा ढहा और संरक्षण के कारण गर्म होने लगा जैसे ही बादल के कोर के भीतर के दाब ने अधिक ऊष्मा उत्पन्न की, वैसे ही आस-पास की गैस जुड़ती गई और एक सक्रिय पैदा हुआ। इस प्रकार सूर्य का जन्म हुआ।

 

सूर्य की मुख्य अनुक्रम अवस्था

सूर्य की आयु से संभंधित रोचक तथ्य

यह अपनी मुख्य अनुक्रम अवस्था से गुजरता हुआ अपनी आधी आयु व्यतीत कर चुका है। हर सेकंड, सूर्य की कोर के भीतर 40लाख टन से ज्यादा पदार्थ ऊर्जा में परिवर्तित होते रहे हैं। और इस दर से 100 पृथ्वी जितना पदार्थ से सूर्य ऊर्जा उत्पन्न कर चुका है। विशेषज्ञों के अनुसार सूर्य एक विशेष तारे के रूप में अगले 5 अरब साल में अपनी इस ऊर्जा को खत्म कर पाएगा।

सूर्य के कोर में हाइड्रोजन के समापन के बाद क्या स्थिति होगी

इसके पास एक विस्फोट के लिए पर्याप्त द्रव्यमान नहीं है, फिर भी उसकी एक सीमित आयु के बाद हाइड्रोजन की समाप्ति होगी। वह अपने लाल दानव चरण में प्रवेश करेगा। विशेषज्ञों के अनुसार यह पूर्व अनुमान लगाया गया। 5 अरब वर्ष के बाद  वह लाल दानव बन जाएगा और दोगुना और बडा हो जाएगा। सौरमंडल की पृथ्वी समेत अन्य ग्रहों को भी यह निगल जाएगा।

 

                                  – अंजलि चौहान

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here